Culture and Heritages

हिन्दी बोलने में शर्म क्यों

हिन्दी बोलने में शर्म क्यों? Hindi Humari Apni Bhasha

आज मै बैठे बैठे सोच रही थी कि क्यो  लोग हिंदी भाषा  जो की हमारी  राष्ट्रीय भाषा है को इतनी हीन भावना से देखने लगे हैं, आज कहीं भी जाओ लोग अंग्रेज़ी भाषा को ज्यादामहत्व  देने लगे हैं। नौकरी  के लिए  अगर आप को साक्षात्कार देना है  तो आप  को  अंग्रेज़ी  आना जरुरी  है नही …

हिन्दी बोलने में शर्म क्यों? Hindi Humari Apni Bhasha Read More »

Durga Saptshati

Devi Kavach- Durga Saptashati | Devi Kavach Path in Hindi |

जीवन में कुछ न कुछ समस्याएँ तो होती ही रहती है लेकिन हर समस्या का समाधान भी होता है | जीवन है तो समस्याएं है, लेकिन इसे लेकिन कर दिन भर चिंतामग्न होने से कुछ हासिल नहीं होगा | कहते है न आध्यात्म में हर समस्या का समाधान होता है Devi Kavach- Durga Saptashati एक …

Devi Kavach- Durga Saptashati | Devi Kavach Path in Hindi | Read More »

indian culture

भारतीय संस्कृति/सभ्यता पर पश्चिमी सभय्ता का कुठाराघात

किसी भी सभ्यता अथवा संस्कृति की अच्छाइयों एवं बुराइयों को उतना ही ग्रहण करना चाहिए | जो हमारी भारतीय संस्कृति/सभ्यता  के मूल पर कोई आघात न कर सके। परंतु हम भारतवंशी इतने दयालु है कि अपने मूल का नाश करके भी हर जगह से कुछ न कुछ लेते रहते है । इतिहास में इस तरह …

भारतीय संस्कृति/सभ्यता पर पश्चिमी सभय्ता का कुठाराघात Read More »